बजरंग दल पर प्रतिबंध कि घोषणा के बाद कमलनाथ आहत

बजरंग दल पर प्रतिबंध कि घोषणा के बाद,प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने कमलनाथ को पत्र लिख कहा अपना भक्ती स्‍पष्‍ट करें…

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र मे इस्‍लामिक संगठन पीएफआइ के साथ बजरंग दल पर भी प्रतिबंध लगाने की बात से देशभर कि राजनितिक हलचल पैदा हो गई है। भाजपा प्रतिबंध लगाने के कांग्रेस के वादे को ‘बजरंगबली’ से जोड़ते हुए लगातार हमलावर है।

अब इस मुद्दे पर प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने कांग्रेस के साथ-साथ कमल नाथ को भी घेरा है और उनसे अपनी हनुमान भक्‍ति साबित करने की मांग की है। नरोत्‍तम मिश्रा ने इस संदर्भ में कमल नाथ को एक पत्र भी लिखा है, जिसमें उन्‍होंने पूछा है कि क्या कमल नाथ बजरंग दल पर बैन लगाने की बात से सहमत हैं। वह खुद बजरंग दल पर बैन की मांग को लेकर क्या सोचते हैं, उसे लेकर स्थिति स्पष्ट करें।

MP में चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका,पूर्व मंत्री 6 मई को ज्वाइन कर सकते हैं कांग्रेस

नरोत्‍तम ने पत्र में लिखा – ‘कमल नाथ जी, मैंने आपके कई वीडियो व चित्र देखे हैं, जिनमें भगवान बजरंगबली के प्रति आपकी भक्‍ति साधना प्रदर्शित की गई है। बजरंगबली के प्रति आपकी श्रद्धा-भक्‍ति समय-समय पर कई बार मीडिया के माध्‍यम से भी देखी और सुनी गई है। ऐसे में कोई भी बजरंग भक्‍त ऐसा नहीं होगा जो कर्नाटक में कांग्रेस द्वारा बजरंग दल पर प्रतिबंध की घोषणा से आहत न हुआ हो।

आपकी पार्टी के दिग्‍गज नेता दिग्‍विजय सिंह भी कर्नाटक घोषणा पत्र के इस बिंदु से सहमत हैं और वह पूर्व में अपने मुख्‍यमंत्री रहते समय अपने कार्यकाल में बजरंग दल पर लगाए गए प्रतिबंध की बात को दोहरा रहे हैं।

CBI ने रिश्वत लेतें भारतीय खाद्य निगम भोपाल के दो कर्मचारियों को दबोचा

ऐसे में मेरा आपसे आग्रह है कि आप इस विषय पर अपनी प्रतिक्रिया से स्‍पष्‍ट करें कि आप इस निर्णय के पक्ष में हैं या विपक्ष में।



Source link